प्रमुख समाचार
पहाड़ों पर बर्फबारी से मैदानी इलाकों में मौसम हुअा सर्द
नई दिल्ली,19/नवम्बर/2017(ITNN)>>> पहाड़ों में बर्फबारी के साथ शनिवार को जहां बारिश हुई है वहीं मैदानी क्षेत्रों में भी कई स्थानों पर बूंदाबादी हुई है। बारिश होने के चलते राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में सिहरन बढ़ गई है। धुंध भी पहले की तुलना में काफी कम हुई है जिससे लोगों ने राहत की सांस ली है।

लेह में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 
जम्मू-कश्मीर के उच्चपर्वतीय इलाकों में शनिवार को भी हिमपात और बारिश का सिलसिला जारी रहा,जिससे ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। बर्फबारी के चलते श्रीनगर - लेह, मुगल रोड तथा बांडीपोर-गुरेज मार्ग तीन दिन से बंद है। अलबत्ता,जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर यातायात सामान्य ढंग से जारी है। लेह में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे -6.4 के साथ राज्य और गुलमर्ग -3.8 के साथ कश्मीर का सबसे ठंडा क्षेत्र रहा। मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों के दौरान भी ऊपरी इलाकों में बर्फबारी व बारिश की संभावना जताई है।

बदरीनाथ,केदारनाथ ने ओढ़ ली बर्फ की चादर 
उत्तराखंड में शीतकाल की पहली बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे। हालांकि बारिश हल्की थी, लेकिन पहाड़ से लेकर मैदान तक पारा लुढ़कने से सर्दी का एहसास बढ़ गया है। वहीं,बदरीनाथ,केदारनाथ और गंगोत्री-यमुनोत्री ने भी बर्फ की चादर ओढ़ ली। बदरीनाथ की चोटियों में बर्फबारी का सिलसिला लंबे समय से जारी था,मगर सीजन में धाम में यह पहला हिमपात है।

शिमला में बर्फबारी से पर्यटन स्थल गुलजार 
हिमाचल में कई जगह बर्फबारी और बारिश के कारण शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया है। शिमला जिले में मौसम का पहला हिमपात होने से पर्यटन स्थल कुफरी गुलजार नजर आया। कुल्लू के रोहतांग दर्रे में अब भी बर्फबारी का क्रम जारी है। यहां करीब ढाई फुट व कोकसर में दो फुट बर्फबारी हो चुकी है। इससे लाहुल-स्पीति का कुल्लू-मनाली से पूरी तरह संपर्क कट गया है। मौसम विभाग ने 24 घंटे के दौरान कई स्थानों पर भारी बर्फबारी की चेतावनी दी है। शनिवार को प्रदेश का अधिकतम तापमान ऊना में 23.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जबकि न्यूनतम तापमान केलंग में माइनस 1.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

दिल्ली में हल्की बारिश से बढ़ी सिहरन 
राजस्थान और जम्मू कश्मीर की ओर बने पश्चिमी विक्षोभ के चलते शनिवार सुबह भी दिल्ली में कई जगह हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे जहां एक ओर ठंडक बढ़ने लगी है वहीं तापमान में भी गिरावट आ रही है। अब और बारिश या बूंदाबांदी के आसार नहीं हैं। नमी का अधिकतम स्तर 96 फीसद जबकि न्यूनतम 54 फीसद रहा। बूंदाबांदी काफी हल्की थी। वहीं उप्र के कुछ हिस्सों में भी हल्की बारिश हुई। इससे तापमान में थोड़ी गिरावट आई है। धुंध से भी लोगों थोड़ी राहत मिली है।