प्रमुख समाचार
राहुल गांधी ने भरा कांग्रेस अध्यक्ष के लिए नामांकन,कई नेता थे मौजूद
नई दिल्ली,04/दिसंबर/2017(ITNN)>>> कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भर दिया है। राहुल ने यह नामांकन पार्टी दफ्तर में भरा जहां मनमोहन सिंह, शील दीक्षित जैसे कई बड़े नेता मौजूद थे। उनके इस नामांकन के पूर्व पार्टी दफ्तर के बाहर नेताओं और कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लग गया। नामांकन भरने से पहले राहुल सीधे पूर्वी पीएम मनमोहन सिंह के घर पहुंचे। यहां से वो राजघाट जाएंगे जहां बापू को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। उनके नामांकन में प्रस्तावक के रूप में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शामिल होंगे।

राहुल गांधी के नामांकन के ठीक पहले उनके खिलाफ बगावत कर चुके कांग्रेस नेता शहजाद पूनावाला ने नए आरोप लगाए हैं। पूनावाला ने ट्वीट कर लिखा है कि कांग्रेस वंशवाद के आरोपों से बचने के लिए राहुल के सामने एक डमी कैंडिडेट उतार सकती है। पूनावाला ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा कि पार्टी के अंदरुनी लोगों ने मुझे बताया है कि वंशवाद के सलाहकार राहुल गांधी के सामने डमी कैंडिडेट उतारने की सलाह दे रहे हैं। मेरे शुभचिंतकों ने यह भी कहा है कि शहजाद आज पार्टी दफ्तर जाकर दूसरे सफदर हाशमी मत बनना।

5 दिसंबर को घोषणा,नामांकन आज
कांग्रेस अध्यक्ष बनने की कवायद में राहुल संभवतः अकेले उम्मीदवार होंगे क्योंकि सोमवार को नामांकन का आखिरी दिन है और किसी ने भी अभी तक कोई पर्चा नहीं भरा है। नये कांग्रेस अध्यक्ष की घोषणा संभवतः 5 दिसंबर को होनी है। पार्टी सूत्रों ने रविवार को बताया कि राहुल गांधी अपने नामांकन पत्रों के चार सेट जमा करेंगे। उनके चार नामांकनों में सोनिया गांधी उनकी पहली प्रस्तावक होंगी। मनमोहन सिंह उनके दूसरे नामांकन में प्रमुख प्रस्तावक होंगे। 

नामांकन के अंतिम दिन सोमवार को राहुल गांधी के समर्थन में 75 नामांकन फार्म से अधिक भरे जाने की उम्मीद है। सूत्रों का कहना है कि सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के अलावा राहुल के नामांकन पत्र पर बतौर प्रस्तावक दस्तखत करने वालों में वरिष्ठ पार्टी नेता गुलाम नबी आजाद, एके एंटनी, पी. चिदंबरम, सुशील कुमार शिंदे, अहमद पटेल और इनमें छह मुख्यमंत्री पंजाब के अमरिंदर सिंह, कर्नाटक के सिद्धारमैया, हिमाचल के वीरभद्र, पुडुचेरी के वी.नारायणसामी, मेघालय के मुकुल संगमा और मिजोरम के ललथनहवला भी मौजूद रहेंगे। 

उनके नामांकन के समर्थन में छह मुख्यमंत्री पंजाब के अमरिंदर सिंह, कर्नाटक के सिद्धारमैया, हिमाचल के वीरभद्र, पुडुचेरी के वी.नारायणसामी, मेघालय के मुकुल संगमा और मिजोरम के लाल थंहावला भी पार्टी मुख्यालय में मौजूद रहेंगे। कांग्रेस के केंद्रीय निर्वाचन प्राधिकरण के अध्यक्ष मुल्लापैली रामचंद्रन ने बताया कि सोमवार को नामांकन का आखिरी दिन है लेकिन रविवार तक किसी ने भी अपना नामांकन दाखिल नहीं किया है। हालांकि अब तक राज्य की इकाइयों के प्रतिनिधियों को 90 नामांकन फार्म दिए जा चुके हैं। 

विभिन्न राज्यों से कांग्रेस के कई प्रतिनिधिमंडल राहुल गांधी के सर्वोच्च पद के लिए अपना समर्थन देने अकबर रोड स्थित पार्टी मुख्यालय में सोमवार की सुबह ही पहुंच जाएंगे। नामांकन की प्रक्रिया सुबह 10.30 बजे शुरू होगी। कांग्रेस प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि राहुल गांधी के समर्थन में राज्य और अग्रज संगठनों के अलावा सभी पार्टी महासचिव,कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य आदि भी शामिल होंगे। कांग्रेस कमेटी के निर्धारित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार नामांकन की प्रक्रिया 4 दिसंबर को खत्म हो रही है। अगले दिन यानी 5 दिसंबर को स्क्रूटनी के बाद दोपहर 3.30 बजे तक वैध नामांकनों की घोषणा भी कर दी जाएगी। 

नामांकन वापसी का आखिरी दिन 11 दिसंबर और जरूरत पड़ने पर मतदान 16 दिसंबर को होगा। उल्लेखनीय है कि लगातार 19 सालों से कांग्रेस अध्यक्ष रहने के बाद सोनिया गांधी अपने बेटे राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष का पद सौंपना चाहती हैं। हालांकि नामांकन केवल राहुल गांधी का ही होना है, इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष की घोषणा भी अगले दिन ही होनी की उम्मीद है। पार्टी प्रवक्ता सुष्मिता देव ने आंतरिक चुनाव की प्रक्रिया पर उठे विवाद के बारे में पूछे जाने पर कहा कि लोग कांग्रेस चुनाव लोकतांत्रिक है या नहीं को लेकर आलोचना कर रहे हैं। लेकिन यह ऐसा चुनाव है जो भारतीय निर्वाचन आयोग की निगरानी में हो रहा है।