प्रमुख समाचार
आसियान में शामिल होने के लिए PM मोदी फिलीपींस रवाना,हो सकती है ट्रंप से मुलाकात
नई दिल्ली,12/नवम्बर/2017(ITNN)>>> 14 नवंबर को फिलीपींस में होने वाले 15वें आसियान-भारत समिट में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रवाना हो गए। यहां उनकी मुलाकात अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी होने की संभावना जताई जा रही है। फिलीपींस में पीएम मोदी का अन्य मुद्दों के अलावा व्यापार और कनेक्टिविटी पर जोर होगा। पीएम मोदी यहां विश्व के बड़े नेताओं से भी मुलाकात करेंगे। इनमें अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप,रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग शामिल हैं।

इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की। उन्होंने मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत की आसाधरण आर्थिक प्रगति तारीफ के काबिल है। उन्होंने एशिया पैसिफिक के बजाए इंडो-पैसिफिक की पैरोकारी कर दुनिया और क्षेत्रिया ताकतों को संदेश भी दिया। अपने एशियाई दौरे पर वियतनाम पहुंचे ट्रंप ने कहा कि पीएम मोदी भारत जैसे विशाल देश के लोगों को एक साथ लाने में सफलतापूर्वक काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी के कारण इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में जबरदस्त प्रगति हुई है।

ट्रंप ने कहा कि अर्थव्यवस्था को बाहरी दुनिया के लिए खोलने के पीएम मोदी के फैसले के बाद भारत ने आसाधारण विकास किया है,जिससे भारत में लगातार बढ़ रहे मध्यवर्ग के लिए नए मौको की दुनिया तैयार हुई है। उन्होंने कहा कि भारत अपने स्वतंत्रता की 70वीं वर्षगांठ बना रहा है,जोकि ये दर्शाता है कि 130 करोड़ की आबादी वाला देश भारत सफल संप्रभु वाला लोकतांत्रिक राष्ट्र है। ट्रंप ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश हैं और पीएम मोदी भारत - आसियान और ईस्ट एशिया के शिखर सम्मेलनों में हिस्सा लेने के लिए फिलीपींस आ रहे हैं।

आसियान में शामिल 10 सदस्य देश हैं-ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम। विदेश मंत्रालय में (पूर्व) की सचिव प्रीति सरन ने कहा,यह दिखाता है कि भारत आसियान के साथ अपने संबंधों को महत्व देता है। यह विशेष रूप से आसियान सदस्य देशों के साथ संबंधों को गहरा करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता का प्रतीक है और साथ ही इंडो-प्रशांत क्षेत्र हमारे अधिनियम पूर्व नीति के ढांचे का हिस्सा है।