प्रमुख समाचार
EC की मंजूरी के बगैर गुजरात में 8 और 9 दिसंबर को नहीं छपेगा कोई विज्ञापन
नई दिल्ली,05/दिसंबर/2017(ITNN)>>> गुजरात में 9 दिसंबर को पहले चरण का मतदान है। ऐसे में चुनाव आयोग ने आचार संहित का कड़ाई से पालन कराने के इरादे से फैसला लिया है। इसके तहत गुजरात में आठ और नौ दिसंबर को निर्वाचन आयोग की मंजूरी बिना किसी भी समाचार पत्र में कोई भी विज्ञापन नहीं प्रकाशित किया जाएगा। इस संबंध में आयोग ने सभी उम्मीदवारों,राजनीतिक दलों को सोमवार को निर्देश दिए। साल 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा द्वारा विवादास्पद विज्ञापन प्रकाशित कराने के बाद आयोग ने यह नीति अपनाई है। 

गुजरात में नौ दिसंबर को पहले चरण का चुनाव है। इस दिन 89 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होने हैं। गुजरात के मुख्य चुनाव अधिकारी की ओर से जारी निर्देश में आयोग ने कहा है कि पूर्व में ऐसा देखा गया है कि अपमानजनक और भ्रामक प्रकृति के विज्ञापन जारी किए गए हैं। मतदान के अंतिम चरण में इस तरह के विज्ञापन चुनाव को हानि पहुंचाते हैं। ऐसे मामलों में प्रभावित उम्मीदवारों या पार्टियों को स्पष्टीकरण या खंडन करने का कोई मौका नहीं मिलता है।

ऐसे मामलों की पुनरावृत्ति न हो इसलिए कोई भी राजनीतिक दल,उम्मीदवार या अन्य कोई संगठन आठ व नौ दिसंबर को बिना उसकी मंजूरी लिए किसी भी विज्ञापन का प्रकाशन नहीं कराएगा। आयोग ने राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों के विज्ञापनों को प्रकाशन से पहले मंजूरी देने वाली अपनी प्रदेश और जिलास्तरीय समितियों को इस बारे में निर्धारित प्रक्रिया का सजगता से पालन करने को कहा है।