प्रमुख समाचार
देश का मशहूर धरना स्थल जंतर-मंतर खाली,नहीं बैठ पाएंगे प्रदर्शनकारी
नई दिल्ली,31/अक्टूबर/2017(ITNN)>>> देश के मशहूर धरना स्थल जंतर-मंतर को सोमवार को प्रदर्शनकारियों से पूरी तरह से खाली करा लिया गया। अब यहां न तो नारे लगेंगे और न ही कोई प्रदर्शन होगा। यातायात के लिए उपयोग न होने वाली यह सड़क अब मध्य दिल्ली की अन्य सड़कों की तरह उपयोग हो सकेगी। नब्बे के दशक में धरना स्थल के रूप में उभरने वाला जंतर-मंतर यूं सुनसान हो गया,जैसे कि यहां कभी कोई विरोध प्रदर्शन हुआ ही नहीं हो। 

दीवारों पर लगे पोस्टर फटे थे। सड़क के दोनों ओर टेंट नहीं थे। हालांकि मामले की नजाकत को देखते हुए पुलिसकर्मी तैनात थे। कोई पुलिसकर्मी इस जगह पर अपनी यादों को साझा कर रहा था तो कोई एनजीटी के ध्वनि प्रदूषण पर आए फैसले से प्रभावित हुए इस जगह को सही और गलत के पैमाने में ढाल रहा था। जगह खाली कराने के लिए सुबह करीब छह बजे प्रशासन और पुलिस की एक बड़ी टीम ने पूरे धरना स्थल को घेर लिया। 

टीम ने प्रदर्शनकारियों और टेंट को हटाना शुरू किया। पुलिस ने उन प्रदर्शनकारियों पर डंडा भी चलाया,जो लगातार चेतावनी देने के बाद भी हटने को तैयार नहीं थे। कुछ प्रदर्शनकारियों ने कुछ समय भी मांगा। जो लोग पुलिस-प्रशासन को सहयोग कर रहे थे,उन्हें समय भी दिया। धरना स्थल खाली होने के बाद शाम को एनडीएमसी की टीम ने जंतर-मंतर को पौधों से सजाना शुरू कर दिया। पेड़ों के बीच आ रहीं स्ट्रीट लाइट व्यवस्थित की गईं।

दिल्ली पुलिस से मांगी रिपोर्ट
नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने जंतर-मंतर पर सभी तरह के धरना-प्रदर्शनों पर पूरी तरह रोक लगाने के अपने आदेश के अनुपालन की स्थिति को लेकर दिल्ली पुलिस से स्टेट्स रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है।