प्रमुख समाचार
पाकिस्तान में भड़की हिंसा,कट्टरपंथी बेकाबू,1 की मौत
इस्लामाबाद,25/नवम्बर/2017(ITNN)>>> पाकिस्तान में सरकार विरोधी प्रदर्शनों ने हिंसक रुख अख्तियार कर लिया है। आंदोलनकारी बेकाबू हो गए हैं। पाकिस्तान के चार जिले हिंसा की चपेट में हैं। कट्टरपंथियों को नियंत्रित करने की कोशिश में एक पुलिस जवान की मौत हो गई है। झड़पों में 150 से अधिक लोग घायल हैं। बीते कई दिनों से सड़क जाम किए कट्टरपंथी धार्मिक दल के सदस्यों पर शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने कार्रवाई शुरू कर दी। 

इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने सड़कों को खाली कराने संबंधी आदेश का पालन नहीं कराने पर देश के आंतरिक मंत्री अहसान इकबाल के खिलाफ अवमानना का नोटिस जारी किया था। इसके बाद प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने का पुलिस ने बड़ा अभियान शुरू किया। सुरक्षाबल के आठ हजार से अधिक जवान और अधिकारी सड़कों पर उतारे गए। इस क्रम में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े तथा पानी की बौछार की। 

उधर सेना प्रमुख कमर बाजवा ने प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी से इस समस्या का शांतिपूर्ण हल निकालने को लेकर चर्चा की है। तहरीक-ए-लबाइक,सुन्नी तहरीक पाकिस्तान आदि संगठनों के दो हजार से अधिक आंदोलनकारियों ने पिछले दो सप्ताह से एक्सप्रेस वे, रावलपिंडी के गैरीसन शहर और इस्लामाबाद के एकमात्र एयरपोर्ट को जोड़ने वाली मुर्रे सड़क पर कब्जा कर रखा था।

प्रदर्शनकारी कानून मंत्री जाहिद हमीद के इस्तीफे की मांग पर अड़े हैं जिन्होंने 2017 के निर्वाचन विधेयक में अल्लाह के नाम पर शपथ लेने के नियम में बदलाव कर दिया था। हालांकि, सरकार ने इसे तकनीकी खामी बताया है। पाकिस्तानी स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक 150 से ज्यादा घायलों को इस्लामाबाद और रावलपिंडी के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इनमें 35 से अधिक सुरक्षाकर्मी हैं जो प्रदर्शनकारियों की ओर से की गई पत्थरबाजी में घायल हुए हैं। 

दर्जनों प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है। इस्लामाबाद में चल रहे विरोध-प्रदर्शन के समर्थन में कराची, लाहौर, रावलपिंडी और पेशावर में भी आंदोलन शुरू हो गया है। प्रदर्शनकारियों ने कराची से बंदरगाह जाने वाले मार्ग को बंद कर दिया है। वहीं प्रांतीय सरकार के प्रवक्ता मलिक अहमद खान के मुताबिक लाहौर के पूर्वी क्षेत्र में भी समर्थकों ने तीन सड़कों को जाम कर दिया है।

टीवी कवरेज व सोशल मीडिया पर पाबंदी
आंदोलन से पाकिस्तान में कोहराम मच गया है। टीवी प्रसारण से विरोध-प्रदर्शन की आग अन्य शहरों में फैलने के मद्देनजर पाकिस्तान में टीवी कवरेज पर पाबंदी लगा दी गई है। टीवी चैनलों का प्रसारण बंद करा दिया गया है। इसके अलावा सोशल मीडिया साइट जैसे फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप और यूट्यूब को भी बंद कर दिया गया है।