प्रमुख समाचार
PAK सुप्रीम कोर्ट ने कटास राज मंदिर सरोवर को लेकर सरकार को फटकारा
इस्लामाबाद,24/नवम्बर/2017(ITNN)>>> पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक कटास राज मंदिर परिसर में पवित्र सरोवर की संरक्षा में विफल होने पर सरकार की खिंचाई की। साथ ही इसकी जांच के लिए उच्च स्तरीय समिति के गठन का आदेश दिया। इलाके में औद्योगिक गतिविधियों के लिए ट्यूबवेल के इस्तेमाल के चलते सरोवर सूख रहा है। चीफ जस्टिस साकिब निसार ने मीडिया में इस संबंध में आई रिपोर्ट पर स्वतः संज्ञान लिया है। 

गुरुवार को चीफ जस्टिस ने कहा कि मंदिर केवल हिंदुओं के सांस्कृतिक महत्व का स्थान नहीं है बल्कि हमारे राष्ट्रीय धरोहर का हिस्सा भी है। उन्होंने इस समस्या का हल करने का आदेश दिया। पंजाब प्रांत के अतिरिक्त महाधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि चकवाल शहर की पूरी आबादी से ज्यादा पानी सीमेंट फैक्ट्री इस्तेमाल कर रही है। कोर्ट ने पंजाब के महाधिवक्ता को मामले की जांच के लिए उच्च स्तरीय समिति बनाने का आदेश दिया। 

साथ ही सीमेंट फैक्ट्री को नोटिस जारी करने का फैसला किया। जस्टिस निसार ने कहा कि अगर 10 ट्यूबवेल बंद करने और फैक्ट्रियों की पानी की खपत रोकने की जरूरत पड़ी,तो वह भी करेंगे। उन्होंने अटार्नी जनरल अश्तर औसफ के देरी से कोर्ट पहुंचने पर नाराजगी जताई। कोर्ट अब इस मामले में अगले गुरुवार को सुनवाई करेगा। गौरतलब है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी 2005 में पाकिस्तान दौरे के दौरान कटास राज मंदिर भी गए थे। उन्होंने पाक सरकार द्वारा कराए जा रहे मंदिर के जीर्णोद्धार कार्य का उद्घाटन किया था।