प्रदेश विशेष
ताजमहल पर 156 करोड़ खर्च करेगी योगी सरकार
लखनऊ,03/अक्टूबर/2017(ITNN)>>> ताजमहल को प्रदेश के पर्यटन स्थलों की सूची से बाहर किए जाने की एक ऐसी चर्चा सोमवार सुबह से शुरू हुई,जिसने शाम तक सोशल मीडिया को मथ दिया। कहा गया कि भाजपा सरकार ने विश्व पर्यटन दिवस पर जो बुकलेट जारी की है,उसमें दिए गए पर्यटन स्थलों में ताजमहल शामिल नहीं है। इस अफवाह को कई खबरिया वेबसाइटें ले उड़ीं। सोशल मीडिया से निकल कर यह अफवाह जब टीवी चैनलों पर खबरों का हिस्सा बनने लगी तो स्थिति स्पष्ट करने के लिए शाम तक प्रदेश सरकार को प्रेस नोट जारी करना पड़ा।

हालांकि,शाम होने तक इस अफवाह की हवा निकल गई। पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी और प्रमुख सचिव पर्यटन अवनीश अवस्थी ने साफ किया कि ताजमहल की कतई उपेक्षा नहीं की गई है,बल्कि ताज से जुड़े पर्यटन विकास के लिए खास पैकेज दिया जा रहा है। इससे पहले सुबह से उड़ी अफवाह का आधार बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उस बयान को भी शामिल कर लिया गया,जिसमें उन्होंने कहा था कि ताजमहल हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं है।

देर शाम सूचना विभाग की ओर से जारी सूचना में बताया गया कि प्रदेश सरकार ने विश्व बैंक के सहयोग से संचालित प्रो-पुअर टूरिज्म योजना के तहत जो 370 करोड़ रुपये की परियोजनाएं प्रस्तावित की हैं,उसमें ताजमहल और ताजमहल क्षेत्र के विकास से जुड़े करीब 156 करोड़ रुपये के काम भी शामिल हैं। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि प्रो-पुअर टूरिज्म योजना के तहत ये सभी प्रस्ताव विश्व बैंक से विमर्श के बाद तैयार किए गए हैं। इन प्रस्तावों को स्वीकृति के लिए केंद्र सरकार को भेज दिया गया है। तीन महीने में इसकी मंजूरी मिलने की उम्मीद है।

प्रवक्ता ने बताया कि ताजमहल और ताजमहल क्षेत्र के विकास के लिए प्रस्तावित 156 करोड़ रुपये की परियोजनाओं में आगरा के कछपुरा व मेहताब बाग क्षेत्र के पुनरुद्धार के लिए 22.91 करोड़ रुपये की परियोजना और कछपुरा में तीन करोड़ रुपये से बनने वाला सीवेज ट्रीटमेंट प्लान भी शामिल है। इसके अलावा ताजमहल व आगरा किले के बीच शाहजहां पार्क तथा वॉक-वे के पुनुरुद्धार के लिए 22.66 करोड़ रुपये की परियोजना भी शामिल की गई है। ताजमहल के पश्चिमी द्वार पर 107.49 करोड़ रुपये से आगंतुक केंद्र का निर्माण व पार्किंग व्यवस्था में सुधार किया जाएगा। इसके अलावा रिवरफ्रंट विकास के साथ रामबाग व मेहताब बाग में मूलभूत सुविधाओं के विकास की परियोजना भी प्रस्तावित की गई है।