प्रदेश विशेष
योगी सरकार करेगी इंटरनेशनल रामायण कॉनक्लेव का आयोजन
नई दिल्ली,25/दिसंबर/2017(ITNN)>>> योगी आदित्यनाथ की सरकार ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 6 दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय रामायण सम्मेलन (इंटरनेशनल रामायण कॉनक्लेव) का आयोजन करने जा रही है। ‘राम सेतु’ और ‘सीता रसोई’ इस आयोजन के दो अन्य मुख्य आकर्षण होंगे। यह भी बताया गया है कि ‘राम सेतु’ इस कॉनक्लेव के टैब्लो का भी हिस्सा होगा। यूपी में 14 से 19 जनवरी, 2018 तक आयोजित होने वाले इस इंटरनेशनल रामायण कॉनक्लेव में अयोध्या स्थित ‘सीता रसोई’ का प्रारूप लोग लखनऊ में बनाया जायेगा। 

असल में यह एक फूड कोर्ट होगा, जिसमें लोग अलग-अलग पकवान का लुत्फ उठा सकेंगे। सम्मेलन के दौरान इंडोनेशिया, श्रीलंका, कंबोडिया, त्रिनिदाद और थाईलैंड के इंटरनेशनल थियेटर आर्टिस्ट लोगों का मनोरंजन करेंगे। अयोध्या, मथुरा, ओडिशा और केरल के भारतीय कलाकार भी इनके साथ प्रस्तुति देंगे। खबरों के मुताबिक योगी आदित्यनाथ की सरकार एक इवेंट मैनेजमेंट कंपनी की मदद से भव्य आयोजन की तैयारी कर रही है। आयोजन स्थल पर ‘राम बाजार’ भी लगेगा, जिसमें उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों के अलावा भारत के अलग-अलग राज्यों से लोग धर्म, संस्कृति, योग एवं अध्यात्म से जुड़ी चीजों की खरीदारी कर सकेंगे। ‘सीता रसोई’ और ‘सबरी फूड’ के नाम से दो फूड कोर्ट बनाये जायेंगे।

जिसमें हर दिन करीब 1,000 अतिथियों को पारंपरिक शाकाहारी एवं लजीज व्यंजन परोसे जायेंगे। कॉनक्लेव के दौरान सीता स्वयंवर, सीता हरण, राम सेतु का निर्माण, राम-रावण युद्ध और राम के राज्याभिषेक जैसे रामायण की अहम घटनाओं का चित्रण किया जायेगा। सम्मेलन स्थल पर 7-8 फीट की भगवान हनुमान की प्रतिमा के अलावा सोने के हिरण की तलाश में भटकते भगवान राम की प्रतिमा लगेगी. इतना ही नहीं, भगवा राम को सबरी द्वारा बेर खिलाने, भरत द्वारा भगवान राम की चरण पादुका ले जाने, कुंभकर्ण से युद्ध, बालि और सुग्रीव के बीच युद्ध के दृश्यों को जीवंत किया जायेगा. कार्यक्रम स्थल पर निरंतर लोग रामायण की चौपाई सुन सकेंगे।