प्रदेश विशेष
राहुल गांधी के गढ़ अमेठी के इस स्कूल में बच्चे पढ़ने नहीं सिर्फ खाने के लिए आते हैं
अमेठी,22/जुलाई/2017(ITNN)>>>>> कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में एक स्कूल ऐसा है जो 2012 से ही खंडहरनुमा बिल्डिंग में चल रहा है. कक्षा पांच तक के इस स्कूल में कुल 36 बच्चे हैं,जिनमें से कभी 11 तो कभी 5 बच्चे ही स्कूल आते हैं. वो भी पढ़ने नहीं मिडडे मिल का खाना खाने के लिए. ये नजारा है अमेठी जिले के जामों ब्लॉक के बलभद्रपुर गांव के रानीपुर प्राथमिक विद्यालय का. स्कूल की हालत ऐसी है कि न खिड़की है और न ही पक्की फर्श. दिवार पर भी प्लास्टर नहीं किया हुआ है.

टॉयलेट भी बना है लेकिन उसमें दरवाजे नहीं लगे हैं. इतना ही नहीं साफ़-सफाई का कोई इंतजाम भी नहीं है. बारिश में स्कूल के छत से पानी टपकता है जिस वजह से पानी भर जाता है. बताया जा रहा है कि शुरुआत से ही इस विद्यालय को आधा अधुरा बनाकर सौंप दिया गया. ठेकेदार और अधिकारीयों की मिलीभगत से करोड़ों रुपए डकार लिए गए. गांव के रहने वाले एक बुजुर्ग बताते हैं कि इसको लेकर कई बार शिकायत हुई लेकिन कोई कार्यवाई अब तक नहीं की गई. वहीं इस विद्यालय में तैनात टीचर से बात की गई तो उन्होंने बताया की जब बरसात होती है. 

तो छत से पानी अंदर भर जाता है. विद्यालय में रिकार्ड रखने की जगह नहीं है. रिकार्ड को थैले मे रखकर गांव वालों के घरों मे रखवाते हैं तो सुरक्षित रहता है. इस समस्या को लेकर अपने विभाग को कई बार अवगत कराया लेकिन अब सुनने में आ रहा है कि जल्दी ही विद्यालय में सुधार किया इस विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चें बताते हैं कि बरसात मे पढ़ने के लिए इस विद्यालय में कोई सुरक्षित जगह की तो बात छोड़िये खुद को और अपने कापी किताब को बचाने की जगह नहीं रहती है.