प्रदेश विशेष
पद्मावती विवाद के चलते 7 दिन में 70 हजार पर्यटक पहुंचे चित्तौड़गढ़ का किला देखने
जयपुर,02/जनवरी/2018(ITNN)>>> फिल्म 'पद्मावती' को लेकर उठे विवाद का नतीजा इस बार चित्तौड़गढ़ और उदयपुर में पर्यटकों की आवक से देखने को मिला। क्रिसमस दिवस (25 जनवरी,2017) से लेकर नये साल के पहले दिन सोमवार तक चित्तौड़गढ़ किले व उदयपुर किले को देखने एक लाख से अधिक देशी-विदेशी पर्यटक पहुंचे। रानी पद्मिनी के जौहर स्थल और पद्मनी मंदिर देखने पहुंचे पर्यटक की बढ़ती भीड़ को देखते हुए रविवार को तो फोर्ट के दरवाजे बंद करने पड़े। फोर्ट देखने के लिए लगने वाले टिकट ही समाप्त हो गए।

रविवार को 8 हजार टिकट बिके वहीं सोमवार को यह संख्या 6 हजार के करीब रही। भारतीय पुरात्तव एवं सर्वेक्षण विभाग के अधिकारियों के अनुसार 25 दिसंबर से लेकर एक जनवरी 2018 तक करीब 70 हजार पर्यटकों ने चित्तौड़गढ़ किला देखा। उदयपुर किले में भी एक सप्ताह में करीब 40 हजार पर्यटक पहुंचे। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों का दावा है कि दोनों शहरों में देशी-विदेशी पर्यटक इस साल पिछले पांच साल की तुलना में काफी अधिक आए।

इसका एक कारण फिल्म विवाद भी है। राज्य की पर्यटन मंत्री कृष्णेन्द्र कौर दीपा का कहना है कि इस साल पिछले कई सालों के मुकाबले अधिक पर्यटक आए। सही आंकड़ा तो एक-दो दिन में आ जाएगा,लेकिन पर्यटकों की बढ़ी तादाद से प्रदेश के पर्यटन व्यवसाय को नया जीवन मिला है। पर्यटन विभाग के अनुसार इस बार विदेशी पर्यटकों के अतिरिक्त गुजरात, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और हरियाणा से भी पर्यटक नया साल मनाने चित्तौड़गढ़ एवं उदयपुर पहुंचे।