प्रदेश विशेष
जमीर के राज्यपाल रहते गोवा की सड़कों पर नहीं दिखते थे आवारा कुत्ते

पणजी,17/जनवरी/2017(ITNN)>>>>>>> रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने सोमवार को नगा लोगों के कुत्ते के मांस के प्रति विशेष रुचि को लेकर विवादित बयान दे डाला। उन्होंने कहा कि एससी जमीर के गोवा का राज्यपाल रहने के दौरान पणजी की सड़कों पर एक भी आवारा कुत्ता नहीं दिखाई देता था। रक्षा मंत्री ने नगालैंड के वरिष्ठ कांग्रेस नेता को किराये का टट्टू करार दिया। कहा,2005 में भाजपा नीत गठबंधन सरकार को गिराने के लिए ही उन्हें गोवा का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। उस समय मनोहर पर्रीकर ही गोवा के मुख्यमंत्री थे।

 

दक्षिण गोवा के कानकोना विधानसभा क्षेत्र में एक चुनावी सभा के दौरान वह बोले,जमीर नगालैंड से आए थे। उन्हें सरकार गिराने का लक्ष्य दिया गया था। उनके आने का हमें सिर्फ एक लाभ यह मिला कि तब पणजी में एक भी आवारा कुत्ता नहीं दिखता था। मनोहर पर्रीकर 2000 में गोवा के मुख्यमंत्री बने थे। उनका पहला कार्यकाल 2002 तक चला। इसके बाद हुए राज्य विधानसभा के चुनावों में उन्होंने फिर जीत दर्ज की और सत्ता में आए। जमीर जब 2005 में गोवा के राज्यपाल थे,तब उन्होंने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया।