प्रदेश विशेष
कैंसर को पूर्व जन्म के पापों का नतीजा बताने के बाद असम के मंत्री बीच में लाए गीता
गुवाहाटी,23/नवम्बर/2017(ITNN)>>> कैंसर जैसी गंभीर बीमारी को पूर्व जन्म का पाप बताने वाले असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा अब इसे सही बताने में लगे हैं। वो लगातार ट्विटर पर लोगों की आलोचना का जवाब दे रहे हैं वहीं उन्होंने इस पूरे मामले में भगवत गीता और राहुल गांधी के पेट डॉग पीडी को भी शामिल कर लिया है। बिस्वा ने एक ट्वीट का जवाब देते हुए अपनी सफाई में लिखा है कि आपको पापों और कर्म में अंतर समझना होगा। 

राजनीति आती और जाती है लेकिन गीता में जो लिखा है वो मेरे लिए अंतिम सत्य है। वहीं उन्होंने चिदंबरम के ट्वीट का दूसरी बार जवाब देते हुए लिखा है कि आप कांग्रेस में फिर से कब शामिल हो गए? जहां तक मेरी जानकारी है आप तमिल मनीला कांग्रेस में थे। विशेषाधिकार प्राप्त लोग जो चिट फंड हो या आईएनक्स मीडिया में शामिल रहे हों वो पार्टी बदल सकते हैं। आखिरकार 'पीडी' विशेषाधिकार प्राप्त लोगों को पसंद करता है। 

दरअसल राज्य के मंत्री हेमत बिस्वा ने कैंसर को लेकर दिए अपने बयान में कहा था कि कैंसर होना या एक्सिडेंट होने पूर्व जन्म के पापों का नतीजा है। यह ईश्वर का न्याय है जो होकर रहता है। बिस्वा ने गुवाहाटी में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यहां तक कहा कि जरूरी नहीं यह गलती हमारी ही हो,कई बार माता-पिता द्वारा की गई गलती से भी यह हो सकता है। कैंसर जैसी बीमारी को लेकर दिए अपने बयान पर बिस्वा विपक्ष के निशाने पर आ गए। 

कांग्रेस नेता और पूर्व कैंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने ट्वीट कर बिस्वा पर निशाना साधा है। चिदंबरम ने लिखा है कि कैंसर पिछले जन्म के पाप का फल है? एक आदमी द्वारा पार्टी बदलने का क्या यही असर होता है। बता दें कि बिस्वा पहले कांग्रेस में थे और उनकी पार्टी के बड़े नेताओं में गिनती होती थी। चिदंबरम के ट्वीट पर बिस्वा ने भी जवाब दिया और सफाई दी है कि मेरे ट्वीट को तोड़े-मरोड़ें नहीं,हिंदू धर्म,कर्म के आधार पर मिलने वाले फल पर यकीन करता है। क्या आप इस पर यकीन नहीं रखते। मुझे नहीं लगता आपकी पार्टी में हिंदू दर्शन पर चर्चा होती भी होगी।