प्रदेश विशेष
बालाघाट के पास हाईटेंशन तार से टकराया हेलिकॉप्टर क्रेश, दो ट्रेनी पायलटों की मौत
बालाघाट,26/अप्रैल/2017(ITNN)>>>>>>>  वारासिवनी के पास खैरलांजी इलाके में बुधवार सुबह एक हेलिकॉप्टर क्रेश हो गया, जिसमें दो ट्रेनी पायलटों की मौत हो गई। घटना लावणी गांव के पास ढीमर टोला की है। जानकारी के मुताबिक हेलिकॉप्टर ने बिरसा हवाई पट्टी से सुबह नौ बजे उड़ान भरी थी। घटना में महिला ट्रेनी पायलट हिमांशी कल्याण और रंजन गुप्ता की मौत हो गई। सूचना मिलने के बाद इलाके के एसपी भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

सुत्रो के मुताबिक सीनियर ट्रेनी पायलट रंजन गुप्ता(44) ने ट्रेनी प्लेन नंबर-डी-42 NIKE से अपनी स्टूडेंट हिमांशी कल्याण (23) के साथ उड़ान भरी थी। दिल्ली निवासी हिमांशी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एविएशन ट्रेनिंग एंड मैनेजमेंट से ट्रेनिंग ले रही थी। इसे राजीव गांधी नेशनल फ्लाइंग इंस्टीट्यूट के नाम से भी जाना जाता है। रंजन एयरफोर्स से रिटायर्ड हुए थे। कलेक्टर भरत यादव के मुताबिक हेलिकॉप्टर गोंदिया के बिरसा ट्रेनिंग सेंटर से सुबह नौ बजे उड़ा था। इस दौरान लावणी गांव के पास हेलिकॉप्टर बिजली के तार की चपेट में आकर क्रेश हो गया। नीचे गिरने के बाद वह बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है और उसमें सवार एक ट्रेनी पायलट युवती और युवक की मौत हो गई। 

दूसरी तरफ, बालाघाट आईजी जी। जनार्दन का कहना है कि प्लेन पक्षी से टकराकर क्रैश हुआ। बालाघाट एसपी अमित सांघी ने बताया कि हादसे की जानकारी मिलते ही खैरलांजी पुलिस मौके पर पहुंच गई। वहीं खैरलांजी के थाना प्रभारी अमित जाधव ने मौके पर पहुंचकर बताया कि यह चार सीटों वाला प्लेन जब बाणगंगा नदी से गुजर रहा था। तभी नदी के एक छोर से दूसरे छोर तक खींचे गए तारों से टकराकर यह दुर्घटनाग्रस्त हो गया और नदी में जा गिरा। उन्होंने बताया कि प्लेन जिन तारों से टकराया है, वे नदी के पानी का स्तर (लेवल) मापने के लिए एक छोर से दूसरे छोर तक बिछाए गए थे। एक तरफ का हिस्सा मध्य प्रदेश में है, तो दूसरा महाराष्ट्र में। दोनों के शव संस्थान को सौंपे जा चुके हैं।