प्रदेश विशेष
मां वैष्णो देवी को चढ़ाए फूल महकाएंगें लोगों का जीवन
जम्मू,11/जनवरी/2018(ITNN)>>> माता वैष्णो देवी को अर्पित एक छोटा सा पत्ता भी हमें नसीब हो जाए तो हम उसे अपना भाग्य मानते हैं कि मां का आशीर्वाद हमें मिल गया लेकिन अब मां को चढ़ाए हुए फूल अनेक लोगों के जीवन को फिर से महकाएंगे। वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने माता को अर्पित फूलों से सुगंधित अगरबत्ती व धूपबत्ती बनाने की योजना बनाई है। इतना ही नहीं बोर्ड ने इस परियोजना को अमली चोला पहनाने की शुरुआत भी कर दी है।

महिलाओं को मिलेगा रोजगार
बोर्ड की इस परियोजना में वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च,सीएसआइआर) और केंद्रीय औषधीय एवं सुगंध पौध संस्थान (सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीसिनल एंड एरोमैंटिक प्लांट,सीआइएमएपी,सीमैप) के अलावा राज्य प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड भी मदद कर रहा है। इससे परियोजना से एक तो माता को चढ़े फूल व्यर्थ नहीं जाएंगे,उनका सदुपयोग भी होगा और दूसरा कटड़ा में आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को इससे रोजगार भी मिलेगा। इस काम के लिए महिलाओं को प्रशिक्षण देना भी शुरू कर दिया गया है।

अब स्थानीय लोग बनाएंगे धूप व अगरबत्ती
माता वैष्णो देवी को चढ़ने वाली अगरबत्ती व धूपबत्ती की खपत आधार शिविर कटड़ा से प्रतिदिन बड़ी मात्रा में होती है और इन उत्पादों को बाहर से मंगवाया जाता है। लेकिन बोर्ड की इस परियोजना से अब स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा। हालांकि श्रद्धालुओं को पवित्र गुफा में फूल ले जाने की अनुमति नहीं है। श्रद्धालु पुरानी गुफा तक पुष्प-माला,अगरबत्ती ले जा सकते हैं। जहां इन्हें एकत्र कर लिया जाता है। 

वहीं कटड़ा में बने मंदिर में भी श्रद्धालु इन्हें अर्पित करते हैं। पवित्र गुफा,पुरानी गुफा और कटड़ा के सभी मंदिरों से यहां प्रतिदिन बड़ी मात्रा में चढ़ावे के फूल इकट्ठे हो जाते हैं। माता की नियमित होने वाली आरती और पूजा में फूल चढ़ाए जाते हैं। माता की गुफा की सजावट भी फूलों से ही होती है और रोज ही इन फूलों को बदला जाता है जिससे पुराने फूल व्यर्थ हो जाते हैं लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।