प्रदेश विशेष
हिमाचल में बोले मोदी- तीन साल पहले पूछते थे कितने गए आज पूछते हैं कितने आए
बिलासपुर,03/अक्टूबर/2017(ITNN)>>> प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को हिमाचल प्रदेश की यात्रा पर बिलासपुर पहुंचे। यहां उन्होंने एम्स के अलावा ट्रिपल आईटी और कांगड़ा स्टील प्लांट की आधारशिला रखी। इसके बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने चुनावी शंखनाद करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। पीएम ने कहा कि भ्रष्टाचार बड़ी समस्या है लेकिन साढ़े तीन साल में मेरी सरकार पर एक भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा। हमारी सरकार बनने से पहले एक के बाद एक घोटाले सामने आते थे लोग पूछते थे कि कितना गया लेकिन अब स्थिति यह है।

कि लोग पूछते हैं कितना आया,यही बदलाव है। पीएम ने राज्य सरकार और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में जमानती सरकार है। मुझसे मिलने एक बार कांग्रेसी आए थे तो मैंने पूछा कि आपके सीएम और उनके परिवार पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं, उन्हें बदलते क्यों नहीं। तब कांग्रेसी बोले थे कि हमारी तो पूरी पार्टी की जमानती है। इससे पहले पीएम ने कहा कि हिमाचल के साथ हमारा विशेष नाता है। अगर हिमाचल के साथ कुछ करने का मौका मिले तो सौभाग्य की बात है। एम्स से न केवल स्वास्थ्य की सुविधाएं मिलेंगी बल्कि रोजगार भी मिलेगा और पर्यटन भी बढेगा। 

उन्होंने कहा कि हम एक परिसर बना रहे हैं,जहां 3000 से ज्यादा लोग एक साथ काम करेंगे। एम्स रोजगार के अवसर भी ला रहा है। उनके मुताबिक, बिलासपुर में एम्स से यहां के लोगों को बहुत लाभ होगा। हिमाचल के सपूतों ने देश के लिए बलिदान दिया है। मोदी ने कहा कि हिमाचल देवभूमि है, वीर माताओं की भूमि है और ये वीर-ओजस्वी सपूतों की भूमि है। इंद्रधनुष योजना के अंतर्गत टीकाकरण से छूट गए बच्चों का टीकाकरण हो रहा है। फिर से देशभर में बच्चों का टीकाकरण होगा। आज यहां आइटी का भी शिलान्यास हुआ है। 

हम एक ऐसा परिसर बनाएंगे जो सच्चे अर्थ में शिक्षा और संस्कार का धाम बने। इससे पहले लुहनु हैलीपैड पर केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह,राज्यपाल आचार्य देवव्रत व पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल समेत भाजपा के कई नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया। मोदी ने लुहणू स्थित इनडोर स्टेडियम से एम्स का शिलान्यास किया। साथ ही,ऊना के सलोह में ट्रिपल आइटी का शिलान्यास व कांगड़ा जिले के कंदरोड़ी के स्टील प्लांट का लोकार्पण किया। बिलासपुर में एम्स की स्थापना से लोगों को प्रदेश में ही बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी। 

मध्य हिमाचल में यह प्रदेश का सबसे बड़ा चिकित्सा संस्थान खुलेगा और लोगों को दूसरे राज्यों काी रुख नहीं करना पड़ेगा। एम्स की घोषणा 2015 में मोदी सरकार ने आम बजट में की थी। करीब ढाई साल के इंतजार के बाद एम्स का सपना साकार होने लगा है। कंदरोड़ी स्टील प्लांट से एक हजार से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार प्राप्त होने की संभावना है। इसके अतिरिक्त हजारों स्थानीय लोगों को व्यवसायिक तौर पर लाभ होगा। कंदरोड़ी स्टील प्लांट का शिलान्यास 2009 में यूपीए सरकार के कार्यकाल में हुआ था।

ऊना के हरोली हलके के सलोह में खुलने वाली ट्रिपल आइटी से प्रदेश के युवाओं को निश्चित तौर पर लाभ मिलेगा। युवाओं को तकनीकी शिक्षा के साथ रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे। पिछले पांच साल से यह संस्थान राजनीति का शिकार होता रहा है। संस्थान की कक्षाएं इस समय हमीरपुर में चल रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिमाचल के बिलासपुर में एम्स का शिलान्यास करने के लिए रवाना होने से पहले कुछ देर चंडीगढ़ में रुके। यहां एयरपोर्ट पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत चंडीगढ़ के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।