प्रदेश विशेष
दलित नेता जिग्‍नेश मेवानी निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव,कांग्रेस का समर्थन
अहमदाबाद,27/नवम्बर/2017(ITNN)>>> गुजरात विधानसभा चुनाव में पाटीदारों और ओबीसी के अलावा दलित नेता जिग्नेश मेवानी भी सुर्खियों में हैं। जिग्नेश ने घोषणा की है कि वो किसी पार्टी की तरफ से नहीं बल्कि निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। हालांकि खबर है कि जिग्नेश जिस सीट से चुनाव लड़ेंगे वहां कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार नहीं उतारा है और वो जिग्नेश को ही समर्थन देगी। जिग्‍नेश गुजरात के बनासकांठा जिले की वडगाम सीट से गुजरात विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। यह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट है। कांग्रेस उन्‍हें इस चुनाव में बाहर से समर्थन देगी। इस सीट से मनीभाई वाघेला विधायक हैं। 

उन्होंने कहा कि राज्य कांग्रेस ने उनसे कहा कि वह इस सीट से चुनाव नहीं लड़ेंगे,क्‍योंकि मेवानी के साथ 'समझौता' हुआ है। वाघेला ने कहा कि कांग्रेस ने अनुसूचित जाति (एससी) उम्मीदवार के लिए आरक्षित वडगाम सीट के लिए मेवानी को अप्रत्यक्ष समर्थन दिया है। उन्‍होंने कहा,पार्टी ने मुझसे कहा कि इस बार मुझे वडगाम सीट से चुनाव नहीं लड़ना है। मेवानी इस बार यहां से निर्दलीय उम्‍मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। वह कांग्रेस को समर्थन देंगे। इस सीट पर कांग्रेस अपना कोई उम्‍मीदवार नहीं उतार रही है। जिग्नेश ने सोशल मीडिया के जरिए चुनाव लड़ने की घोषणा की है। 

उन्‍होंने अपने फेसबुक वॉल पर लिखा,मैं निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में वडगाम निर्वाचन क्षेत्र से गुजरात विधानसभा का चुनाव लड़ूंगा। पिछले कुछ महीनों से, खास तौर पर चुनाव की घोषणा होने के बाद अनगिनत आंदोलनकारी साथियों का और युवा वर्ग का न केवल यह अनुरोध था,बल्कि यह इच्‍छा थी कि हम इस बार जमकर चुनाव लड़ें और फासीवादी भाजपा के सामने सड़कों के साथ-साथ चुनाव में भी मुकाबला करें। उन्होंने कहा,भाजपा हमारी सबसे बड़ी दुश्‍मन है, इसलिए भाजपा को छोड़कर कोई भी राजनीतिक दल (या निर्दलीय प्रत्याशी) हमारे सामने अपना उम्मीदवार खड़ा ना करे। 

यह हमारा अनुरोध है। लड़ाई सीधी हमारे और भाजपा के बीच में होने दें। पिछले 22 साल से गुजरात में जो तानाशाही चल रही है,उसके सामने ऊना से लेकर अब तक हमने जो संघर्ष किया है,जो माहौल बनाया है,उससे न केवल गुजरात,लेकिन पूरे देश की जनता वाकिफ है। जिग्‍नेश को कांग्रेस सपोर्ट करेगी,इसकी अटकलें पिछले दिनों से ही लगनी शुरू हो गई थीं,जब उन्‍होंने कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी। राहुल से मिलने के बाद जिग्‍नेश ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी ने उनकी 90 फीसद मांगें मान ली हैं। इसके बाद ये साफ हो गया था कि दलित नेता का कांग्रेस के साथ समझौता हो गया है।

बता दें कि जिग्‍नेश से पहले ओबीसी नेता अल्‍पेश कांग्रेस का दामन थाम चुके हैं। वह कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए हैं। इधर पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भी पिछले दिनों घोषणा की थी कि कांग्रेस ने उनकी आरक्षण की मांग को स्‍वीकार कर लिया है। इसलिए पाटीदार समाज इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन देगा। गुजरात विधानसभा चुनाव दो चरणों में होने जा रहा है। पहला चरण 9 दिसंबर और दूसरा 14 दिसंबर को संपन्‍न होगा। मतगणना 18 दिसंबर को होगी। गुजरात में विधानसभा की कुल 182 सीटें हैं।