प्रदेश विशेष
सरदार पटेल से लेकर गुजरात के सभी नेताओं की राह में रोड़ा बनी कांग्रेसः मोदी
अहमदाबाद,27/नवम्बर/2017(ITNN)>>> गुजरात चुनाव के लिए पीएम मोदी ने मेगा प्रचार जारी है और इसी कड़ी में प्रधानमंत्री भुज से राजकोट पहुंचे। यहां उन्होंने एक बार फिर कांग्रेस पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस हमेशा गुजरात और उसके नेताओं की पीछे खींचने में लगी रही। पीएम बोले कि कांग्रेस ने सरदार पटेल को गुजराती होने की वजह से देश की राजनीति में नहीं रहने दिया। 

बाद में जनसंघ के समर्थन के चलते बाबुभाई पटेल राज्य के मुख्यमंत्री बने। कांग्रेस को यह भी पसंद नहीं आया और कोशिश की कि उनकी सरकार ज्यादा ना चले। जब सौराष्ट्र के बेटे केशुभाई पटेल मुख्यमंत्री बने तो उन्हें भी हटाने की कांग्रेस ने हर संभव कोशिश की। पीएम आगे बोले कि कांग्रेस मुझे इसलिए पसंद नहीं करती क्योंकि मैं गरीब परिवार से हूं। कोई पार्टी क्या इतनी गिर सकती है?

कच्छ में बोले कीचड़ उछाला,अब कमल खिलेगा
इससे पहले पीएम मोदी ने अपने प्रचार की शुरुआत कच्छ के भुज से की है। यहां एक रैली को संबोधित करने पहुंचे पीएम ने कांग्रेस और विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने नाम लिए बिना राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस,गुजरात तुम्हें कभी माफ नहीं करेगा। विपक्ष ने कीचड़ उछाला अब कमल खिलना आसान हो गया है।

पीएम ने कहा कि मुझ पर जो भी कीचड़ उछाला गया उसके लिए में शुक्रगुजार हूं क्योंकि कमल कीचड़ में ही खिलता है। अगर मुझ पर वो लोग और कीचड़ उछालना चाहते हैं तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है। कांग्रेस ने हमेशा गुजरात से बैर भाव रखा है। सरदार पटेल के समय से ही कांग्रेस गुजरात को पीछे करने के प्रयास कर रही है।

कच्छ में लाए नर्मदा
पीएम ने कहा कि जब गुजरात में 2001 में भूकंप आया था तब अटल जी ने मुझे यहां भेजा था ताकि मैं यहां के लोगों के साथ काम कर सकूं। यहां मैंने बहुत कुछ सीखा। जब भूकंप आता है तो उसके बाद लोग कहते हैं यह इमारत भूकंप में गिरी, लेकिन कच्छ में लोग कहते हैं यह स्कूल,अस्पताल और दूसरी इमारतें भूकंप के बाद बनी। 

यह सब कच्छ के लोगों की वजह से है। पीएम बोले कच्छ ऐसी जगह है जहां एक तरफ रेगिस्तान और दूसरी तरफ पाकिस्तान है, किसी ने सोचा भी नहीं ता कि यहां खेती होगी लेकिन हम यहां नर्मदा तक ले आए। कांग्रेस यहां नर्मदा का पानी नहीं आने देना चाहती थी, 30 साल पहले अगर यह हो जाता तो सोचो आज कच्छ कहां होता।

जीएसटी पर बदले
कांग्रेस द्वारा लगातार जीएसटी के विरोध को लेकर पीएम ने कहा कि जब जीएसटी को लेकर बैठक हो रही थी तो कांग्रेस बैठक में सहमत थी लेकिन बाहर आते ही इसका विरोध शुरू कर दिया।

हाफिज पर उठा रहे सवाल डोकलाम नहीं दिखा
पीएम आगे बोले कि पाकिस्तान में एक कैदी छूट गया तो विपक्ष सवाल उठा रहा है, उसे हमारी असफलता बता रहा है, हमने डोकलाम में जो किया वो नहीं दिखा और जाकर चीनी एंबेसेडर से गले मिल आए।

सर्जिकल स्ट्राइक से दिया जवाब
पीएम मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि 26 नवंबर को उरी में हमला हुआ था। आप देख सकते हैं कि भारत ने इसका जवाब कैसे दिया। यह उनकी और हमारी सरकार का अंतर बताता है। एक अखबार ने लिखा था कि पाकिस्तान में लाशे ट्रकों में भरकर ले जाई गईं।

आज करेंगे 4 रैलियां
पीएम आज गुजरात में 4 रैलियों को संबोधित करेंगे। इसके लिए प्रधानमंत्री सुबह गुजरात के कच्छ पहुंचें जहां उन्होंने मां आशापुरा के दर्शन किए। दर्शन के बाद पीएम ने मंदिर में मौजूद महिलाओं और बच्चों से मुलाकात की। यहां 10 मिनट रुकने के बाद पीएम रैली स्थल के लिए रवाना हो गए। खबरों के अनुसार पीएम मोदी 27-29 नवंबर की बाच सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में 8 रैलियों को संबोधित करेंगे। यहां विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण में 9 दिसंबर को मतदान होगा। सोमवार को पीएम मोदी कच्छ से अपनी रैलियों का आगाज करेंगे। 

पीएम पहले भुज फिर राजकोट के जसदान में रैली को संबोधित करेंगे। इसके बाद 29 नवंबर को दक्षिण गुजरात में सोमनाथ के पास स्थित मोरबी और प्राची गांव के अलावा भावनगर के पलीताना और नवसारी में जनसभाओं को संबोधित करेंगे। रैलियों को लेकर गुजरात भाजपा के प्रवक्ता भारत भाई पांड्या ने बताया कि इनका आयोजन कुछ ऐसे किया गया है कि इनमें आसपास के गांवों के लोग भी शामिल हो सकें। पीएम राज्य में 25-30 सभाओं को संबोधित करेंगे।