प्रदेश विशेष
कांग्रेस ने मानी हार्दिक की 4 मांगें,भाजपा ने साधा निशाना
अहमदाबाद,31/अक्टूबर/2017(ITNN)>>> कांग्रेस ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की पांच में से चार मांगों पर सहमति जताई है, लेकिन पाटीदारों को आरक्षण देने के फार्मूले पर सात नवंबर तक का वक्त मांगा है। हार्दिक ने कहा कि सूरत में अब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की सभा का विरोध नहीं करेंगे। सिर कटा लेंगे पर भाजपा का समर्थन नहीं करेंगे। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति और कांग्रेस के बीच चर्चा के बाद हार्दिक ने तीन नवंबर को राहुल की सभा का विरोध नहीं करने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने पाटीदार समाज का दमन किया। 

घरों में घुसकर महिलाओं का अपमान किया तथा युवाओं पर गोली चलाई। इसलिए सिर कटा लेंगे,लेकिन भाजपा का समर्थन नहीं करेंगे। हार्दिक ने कहा कि कांग्रेस से भी उन्हें कोई प्रेम नहीं है,लेकिन विपक्षी दल होने के नाते वही भाजपा को हराने में सक्षम है। इसीलिए पाटीदार आरक्षण व अन्य मुद्दों पर कांग्रेस से चर्चा कर रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सिद्वार्थ पटेल ने बैठक के बाद कहा कि कांग्रेस 25 अगस्त,2015 को अहमदाबाद में हुई पाटीदार महारैली में पुलिस बल प्रयोग,युवाओं और महिलाओं के दमन की एसआईटी से जांच कराएगी। 

आंदोलन के दौरान मारे गए युवकों के परिजनों को 35-35 लाख रुपए व आश्रितों को योग्यतानुसार सरकारी नौकरी दी जाएगी। हार्दिक व अन्य पर लगाए गए राजद्रोह के मुकदमे वापस ले लिए जाएंगे। पाटीदार नेता व आरक्षण आंदोलन समिति के प्रवक्ता दिनेश बामणिया, अल्पेश कथीरिया, ललित वसोया और अतुल पटेल की प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी,पूर्व अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया और सिद्धार्थ पटेल से चर्चा के बाद चार मांगों पर सहमति बन गई।

हार्दिक पटेल और कांग्रेस के बीच मैच फिक्स है। वह पाटीदार समाज के डर से खुलकर कांग्रेस का समर्थन करने से बच रहा है। - नितिन पटेल, उप मुख्यमंत्री

भाजपा 22 साल से पाटीदारों के वोट व नोट के दम पर राज कर रही है। अब अधिकार मांगने निकले तो लाठी व गोलियां बरसा रहे हैं। - हार्दिक पटेल, पाटीदार नेता