आध्यात्म
धनतेरस के दिन कुछ आसान से टोटके कर आप अपनी जिंदगी में आ रही धन संबंधी परेशानी को हमेशा के लिए दूर कर सकते हैं। कहते हैं कि इस दिन जो भी शुभ कर्म किया जाता है, उसका 13 गुना फल मिलता है। जानते हैं कि आपको क्या करना है। सबसे पहले सायंकाल के बाद तेरह दीपक प्रज्वलित कर तिजोरी में कुबेर का पूजन करें।
नवरात्रि पर देवी पूजन और नौ दिन के व्रत का बहुत महत्व है। मां दुर्गा के नौ रूपों की अराधना का पावन पर्व शुरू हो रहा है। इन नौ दिनों में व्रत रखने वालों के लिए कुछ नियम होते हैं। सबसे पहले तो जानते हैं किन लोगों को व्रत नहीं रखना चाहिए। गर्भवती महिलाओं के लिए व्रत निषेध बताया गया है। जो महिलाएं संतान को जन्म देने वाली हैं,उन्हें व्रत नहीं रखना चाहिए।
देव ऋषि नारद या नारद मुनि ब्रह्माजी के पुत्र और भगवान विष्णु के बहुत बड़े भक्त हैं। वह इधर की बात उधर करके, दो लोगों के बीच आग लगाने के लिये काफी प्रसिद्ध हैं। माना जाता है कि उन्हंे सब खबर रहती हैं कि सम्पूर्ण ब्रहमाण्ड में कहाँ क्या हो रहा हैं। मूंह पर नारायण नारायण और हाथ में वीणा लिये, नमक-मिर्च लगा के बातें फैलाना, एक बात को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने, लड़ाई करवाने- उसे रुकवाने, सृष्टि की किसी बड़ी घटना की आहट को पहचानकर उसे एक लोक से दूसरे लोक में पहुंचाने में उनकी महारत थी। उन्हंे दुनिया का आदि पत्रकार माना गया है।