शहर विशेष
तीन घंटे नहीं,अब मुंबई-पुणे का सफर महज 13 मिनट में होगा ऐसे पूरा
मुंबई,19/नवम्बर/2017(ITNN)>>> अच्छे दिन के वादे के साथ देश में मोदी सरकार बनी थी। इसी वादे को पूरा करने के लिए जहां अहमदाबाद से मुंबई के बीच बुलेट ट्रेन चलाने पर काम चल रहा है,वहीं महाराष्ट्र सरकार इससे एक कदम आगे निकलती दिख रही है। सब ठीक रहा तो महाराष्ट्र सरकार के इस प्रोजेक्ट की मदद से मुंबई और पुणे तक का सफऱ तीन घंटे के बजाए 13 मिनट में तय होगा। जी हां,13 मिनट में लगभग 150 किलोमीटर का सफर तय हो जाएगा। अच्छे दिन का ये सपना हाइपरलूप पूरा करेगा। इसकी मदद से मुंबई-पुणे रूट पर सफर करना पूरी तरह बदल जाएगा। 

खासतौर पर उन लोगों के लिए जो रोजाना मुंबई से पुणे आते-जाते हैं। इसके लिए महाराष्ट्र सरकार ने वर्जिन हाइपरलूप कंपनी से एमओयू साइन किया है। पुणे मेट्रोपोलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी यानि पीएमआरडीए के साथ हुए करार में कंपनी मुंबई से पुणे के बीच हाइपरलूप सेवा की संभावनाओं को तलाशने के लिए प्री-फिजिबिलिटी सर्वे करेगी। अगर सर्वे के नतीजे अच्छे मिले तो वो दिन दूर नहीं जब मुंबई-पुणे के बीच का सफर केवल 13 मिनट में तय हो जाएगा। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने टि्वट करके ये जानकारी दी। इस योजना के तहत इन दोनों शहरों के एयरपोर्ट को भी हाइपरलूप से जोड़ने की भी योजना है।

हाइपरलूप बदल देगा ट्रांसपोर्टेशन का तरीका
हाइपरलूप परिवहन का ऐसा माध्यम है,जिसमें मुसाफिर बंद पाइप के अंदर एक खास तरह के कम्पार्टमेंट में बैठकर सफर तय करते हैं। मैग्नेटिक फील्ड के जरिए चलने वाले हाइपरलूप की रफ्तार तकरीबन 1200 किलोमीटर प्रति घंटे होती है। वहीं किसी तरह के ईंधन का इस्तेमाल नहीं होने की वजह से ये पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाता है। एमओयू साइन होने के बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि- हाइपरलूप रूट तभी कामयाब हो सकता है,जब इसके जरिए सफर करने वाले मुसाफिरों की संख्या ज्यादा होगी। 

ऐसे में भारत की सबसे बड़ी आबादी वाले शहर मुंबई और पुणे में इसके कामयाब होने की उम्मीद है। एक से दूसरे स्थान के बीच के सफर को बीस मिनटों के अंदर पूरा करने वाले हाइपरलूप से सफर का तरीका ही बदल जाएगा। इससे मुंबई और पुणे देश के दो सबसे बड़े महानगर में तब्दील हो जाएंगे। केवल मुंबई और पुणे के बीच ही हाइपरलूप शुरू होने पर काम नहीं चल रहा,बल्कि बेंगलुरू-चेन्नई के बीच भी इसे शुरू करने पर बात चल रही है। सब ठीक रहा तो इन दोनों शहरों के बीच की साढ़े तीन सौ किलोमीटर का सफर महज बीस मिनट में पूरा हो जाएगा।