शहर विशेष
पाक सीमा पर रहें नौसैनिक,नहीं दूंगा दक्षिणी मुंबई में एक इंच जमीनः गडकरी
मुंबई,12/जनवरी/2018(ITNN)>>> केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस बात पर हैरत जताई है कि आखिर सभी नौसेना अधिकारियों को पॉश दक्षिणी मुंबई में रहने की जरूरत क्या है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि वह इस क्षेत्र में फ्लैट या क्वार्टर बनाने के लिए नौसेना को एक इंच जमीन नहीं देंगे। दक्षिणी मुंबई के मालाबार हिल्स में तैरने वाला जेट्टी का निर्माण किया जाना था। नौसेना ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए इसकी अनुमति नहीं दी है। इसी जगह तैरने वाला होटल और सीप्लेन सेवा शुरू करने की भी योजना है। नौसेना द्वारा रोक लगाए जाने से केंद्रीय मंत्री नाराज हो गए हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा,वास्तव में नौसेना की जरूरत सीमा पर है जहां से आतंकी घुसपैठ करते हैं। आखिर क्यों हर कोई (नौसेना में) दक्षिण मुंबई में रहना चाहता है? उन्हें (नौसेना) मेरे पास आना चाहिए और प्लॉट के लिए कहना चाहिए। मैं उन्हें एक इंच जमीन भी नहीं दूंगा। मेहरबानी कर मेरे पास फिर न आएं। उन्होंने यह टिप्पणी मुंबई में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में नौसेना के पश्चिमी कमान के प्रमुख वाइस एडमिरल गिरीश लूथरा की मौजूदगी में की। केंद्रीय मंत्री ने कहा,हर कोई दक्षिणी मुंबई के प्राइम लैंड पर क्वार्टर और फ्लैट बनाना चाहता है। 

हम आपका (नौसेना) सम्मान करते हैं,लेकिन आपको भी पाकिस्तान सीमा पर जाकर पेट्रोलिंग करनी चाहिए। कुछ महत्वपूर्ण वरिष्ठ अधिकारी मुंबई में रह सकते हैं। सरकार संचालित मुंबई पोर्ट ट्रस्ट और महाराष्ट्र सरकार द्वारा संयुक्त रूप से पूर्वी समुद्री किनारे का विकास किया जा रहा है। इस इस्तेमाल केवल स्थानीय नागरिकों के लाभ में होना चाहिए। इस तरह विकास कार्यों में अड़ंगा लगाना आदत बन चुकी है। आखिर मालाबार हिल्स इलाके में नौसेना का क्या काम है? मुख्य रूप से यह क्षेत्र निजी आवासीय जोन में आता है। महाराष्ट्र के राज्यपाल और मुख्यमंत्री का आवास इसी क्षेत्र में है।

दक्षिण मुंबई में है नौसेना का पश्चिमी कमान 
दक्षिणी मुंबई में नौसेना के कई अधिकारियों का आवास है। इसके साथ ही पश्चिमी नौसेना कमान का मुख्यालय भी यहीं है। इसके साथ ही दक्षिणी मुंबई के कोलाबा के नेवी नगर में नौसेना के आवासीय क्वार्टर बने हैं।