शहर विशेष
भारत आ रहीं इवांका,दुनिया की सबसे बड़ी डाइनिंग टेबल पर करेंगी डिनर
हैदराबाद,23/नवम्बर/2017(ITNN)>>> अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और सलाहकार इवांका ट्रंप 28 नवंबर से शुरू हो रहे वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन (जीईएस) - 2017 में हिस्सा लेने भारत आ रही हैं। इवांका का यह पहला भारत दौरा होगा। वह सम्मेलन में उच्च स्तरीय अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगी।भारत आने से पहले उन्होंने कहा कि पहली बार आठवें संस्करण में सम्मेलन का विषय वीमेन फर्स्ट,एंड प्रॉस्पेरिटी फॉर ऑल (महिला पहले और सबके लिए खुशहाली) रखा गया है। इससे महिला आर्थिक रूप से सशक्त हो तो उसका समाज और देश आगे बढ़ता है,के सिद्धांत की प्रतिबद्धता झलकती है।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैदराबाद में 30 नवंबर तक चलने वाले सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे और यहां खुद इवांका का स्वागत करेंगे। 28 नवंबर की शाम को मोदी हैदराबाद के मशहूर फलकनुमा पैलेस में इवांका के लिए डिनर होस्ट करेंगे। निजाम डाइनिंग हॉल में इवांका दुनिया की सबसे बड़े डाइनिंग टेबल पर डिनर करेंगी। यह 108 फीट लंबी टेबल है जिस पर 100 लोग एकसाथ बैठ कर खाना खा सकते हैं। शाही दावत में हैदराबाद की लजीज बिरयानी भी होगी। यहां दरअसल दो डिनर आयोजित होंगे। इवांका को बेहद महत्वपूर्ण मेहमान "101 डाइनिंग हॉल" में मौजूद रहेंगे जबकि अन्य प्रतिनिधि दूसरे हॉल में शाही व्यंजनों का लुत्फ उठाएंगे। 

हैदराबाद यात्रा में इवांका चारमीनार का भी दौरा कर सकती हैं। गौरतलब है कि 2000 में पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की बेटी चेल्सिया के बाद यह पहला मौका है जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी भारत आ रही हैं। भीख मांगने पर प्रतिबंधइवांका की तीन दिनी यात्रा के लिए हैदराबाद से करीब एक हजार भिखारियों को सड़कों से हटाकर आश्रम या पुनर्वास स्थलों पर भेजा गया है। यह पहली बार नहीं है, जब देश के किसी शहर में इस तरह भिखारियों को हटाया गया है। इससे पहले वर्ष 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों के पहले भी दिल्ली से भिखारियों को हटाया गया था।

ऐसे खास होगा सम्मेलन

- अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी सम्मेलन में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगी

- 28 नवंबर से शुरू होगा सम्मेलन

- 170 देशों के 1,500 उद्यमी हिस्सा लेंगे

- 8 करोड़ रुपए खर्च कर रही है तेलंगाना सरकार

- 52.5 फीसदी सम्मेलन में महिलाओं का प्रतिनिधित्व।अफगानिस्तान, सऊदी अरब और इसराइल समेत करीब 10 देशों के प्रतिनिधिमंडल में केवल महिलाएं 

प्रतिनिधित्व करेंगी।

- 30 वर्ष या उससे कम उम्र के करीब 31.5 फीसदी शामिल होंगे।

- सबसे कम आयु का उद्यमी 13 साल और सबसे अधिक 84 साल का होगा।

ऐसे हो रही हैदराबाद में तैयारियां

- आयोजन स्थल पर आम लोगों के जाने पर रोक।- नगर निगम सड़कों की मरम्मत, गड्ढों को भरने और मैनहोल को ढंकने में जुटा है।

- तेलंगाना सरकार ने एक हजार सुरक्षाबलों की व्यवस्था की।

- चार मीनार के आसपास खरीदी करने के लिए एक विशेष बाजार तैयार किया जा रहा है, जहां इवांका शॉपिंग करेंगी।

- अमेरिकी सीक्रेट सर्विस के अधिकारी आयोजन स्थल समेत अन्य स्थानों पर सुरक्षा का आकलन करने पहुंचे हैं।

वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन भारत-अमेरिका पक्की दोस्ती की बानगी है। भारत अमेरिका का सबसे बड़ा मित्र और साझेदार है। दोनों देशों के सहयोग का मकसद आपसी आर्थिक और सुरक्षा साझेदारी को बढ़ाना है। - इवांका ट्रंप, डोनाल्ड ट्रंप की बेटी

दो महिला भिखारियों को पकड़ा
इवांका के दौरे के मद्देनजर हाल ही में जब भिखारियों को हटाकर पुनर्वास केंद्रों में भेजा जा रहा था, तो दो महिलाएं ऐसी निकलीं तो फर्राटेदार अंग्रेजी बोल रही थीं। पूछताछ करने पर एक का नाम फरजाना और दूसरी का राबिया बसीरा निकला। बिजनेस स्टडीज में पोस्ट ग्रेजुएट व लंदन में अकाउंटेंट रह चुकी फरजाना का बेटा अमेरिका में आर्किटेक्ट है। वह कुछ साल पहले भारत आई है। पति की मौत के बाद वह मानसिक बीमार हो गई थी और एक बाबा के कहने पर भीख मांग रही थी। 

पुलिस ने उसके बेटे से संपर्क किया तो वह अपनी मां की खोज में भारत आया हुआ था। पुलिस ने शपथ-पत्र भरवाकर महिला को उसके बेटे को सौंप दिया है।वहीं, राबिया ग्रीन कार्ड होल्डर निकली और उसने बताया कि हैदराबाद में उसकी बड़ी जमीन-जायदाद है। उसके भाइयों ने उसे जमीन से बेदखल कर दिया और संपत्ति के लिए कानूनी लड़ाई लड़ते हुए अपना मानसिक संतुलन खो बैठी।